Wednesday, May 24, 2017

संसार में जितने मनुष्य प्रक्र्तिवश अंधे हैं ,उससे कितने ही गुना स्वार्थ वश अंधे हैं ,प्रकृतिवश अँधा व्यक्ति इस संसार की प्रत्येक वस्तु ,जीव जंतु जानवर सहित भाई बंधु पिता माता सभी से अगाध प्रेम करता है ,परन्तु  स्वार्थवश  अँधा व्यक्ति अपने सिवाय इन सभी में से किसी  को भी प्यार नहीं करता,और यदि करता भी है तो उसे जिससे उसकी स्वार्थसिद्धि हो जाए |  

Sunday, May 21, 2017

MODI JI NE KAHA

मोदी जी ने कहा कि बिना पढ़े लिखे देश कराते हैं बैलट पेपर से वोटिंग,
कितना अटपटा लगता है अपने देश के प्रधानमंत्री जी के मुख से सुनकर ,जब कि वो खुद डिग्री धारी नहीं है ,
मेरे विचार से बिना पढ़े लिखे राष्ट्राध्यक्ष  ही करातें हैं E  V  M से वोटिंग
क्या ख्याल है आपका भाइयो 

Saturday, May 20, 2017

हम भी किसी से पर्दा करें ही क्योँ
जब सभी यहां बेपर्दा हो गए हैं |



कोई भी नहीं पूछता कि
क्या हाल है हमारा
गर कोई पूछता भी है तो
वो भी है हमारे जैसा बेचारा |


हम बंदिशों के बावजूद भी
आजाद पंछी ही बने रहे
जवानी भर उड़ते  रहे और
बुढ़ापे में संजीदगी में खो गए |

Tuesday, May 9, 2017

bhajpa ka bhouktntr padhiye

अरबों रूपये के घोटाले वाली पार्टी और करोडो रुपये की घोटाले वाली पार्टीज़ के   प्रवक्ता उस चैनल का ऐंकर  सभी मिलकर बिके  हुए चेनल्स पर लोकतंत्र की तरह बात करने क बजाये भौंक तंत्र को बढ़ावा देते हुए ,
कपिल मिश्रा के द्वारा अनावश्यक २ करोड़ के आरोप को जो कि  उसने सत्येंद्र जैन और केजरीवाल पर लेन  देन  करते हुए देखने का लगाया है सिद्ध करने में लगे हुए हैं ताकि उनकी e  v m  की   डकैती से जनता का ध्यान हटाकर ,केजरीवाल को बदनाम किया जाए ,इससे साफ़ जाहिर है की भाजपा सरकार के सार्वभौम केजरीवाल (यानी देश की 3rd पार्टी जो इनको कुकरम करने से रोक रही है )उसे नष्ट भ्र्ष्ट करना चाहते हैं ,परन्तु भाजपाइयों ये मत भूलो तुम्हारा नंगा नाच और ड्रामा जनता सब देख रही है ,अब इसका सबक २०१९ के चुनावों में ही पता चलेगा जब तुम्हारा e  v m  नहीं होगा यदि चुनाव आयोग  ने चाहा तो ?
और इतना भी जरूर है की भाजपा और मोदी जी के रात को आने वाले सपनों में केजरीवाल के सिवाय शायद कुछ नहीं होता |
जब बहुत ंसारे समूह में झूठे इंसान एक ईमानदार आदमी के पीछे पद जाते हैं तो उनकी कायरता नजर आती है
भौंक तंत्र को अवश्य  पढ़िए  | 

Thursday, May 4, 2017

आज  हम जो भी बो रहे हैं
कल वो ही काटने को मिलेगा
इसलिए आज से ही अच्छा बोओ
ताकि कल अच्छा ही काटने को मिले | 

Wednesday, May 3, 2017

हम अपनी लंगोटी
छीन जाने का शिकवा किस्से करें
यहां तो सभी कपडे होने के बावजूद
नंगे ही ,और  नंगेनंग, नजर आते हैं 

Monday, May 1, 2017

यारी करो ऐसी करो जैसे लुटिया नीर ,
अपना गला फंसाये के लावे नीर झकोर |




मनुष्य को चन्दन की भांति होना चाहिए क्योँकि वो अपनी शीतलता से सर्पों को भी सुख शांति प्रदान करता है ,और जब कोई व्यक्ति उसको अपने मस्तक पर तिलक स्वरूप धारण करता है तो उसे भी पूर्ण शीतलता प्रदान कर सुख की अनुभूति कराता है ,यानी की दुष्ट और सभ्य के साथ एक जैसा ही व्यवहार करता है ,परन्तु आज के मनुष्यों में इस गुण की भरी मात्रा में कमी है |