Sunday, January 7, 2018




मुस्कराहट किसी के भी ह्रदय को वश में करने का सबसे बड़ा हथियार ,
दुश्मन भी पस्त हो जाते हैं 

मूर्खता से बचने का एकमात्र उपाय 

जब आप किसी के प्रश्नों का उत्तर देने में असमर्थ हो तो आप शांत भाव से ,सौम्य मुद्रा में चुप रहिये ,वो व्यक्ति स्वयं अपने प्रश्नों  के उत्तर ढूंढ़ने में लग जाएगा ,और आपके बारे में भी स्वयं धारणा निर्धारित कर लेगा
परन्तु इतना मैं अवश्य कह सकता हूँ की वो आपको मुर्ख नहीं समझेगा ,परन्तु मुंह खोलने  पर आप स्वयं को मुर्ख अवश्य सिद्ध कर दोगे क्योँकि आपके पास जवाब नहीं है   

Thursday, January 4, 2018

priytam


प्रियतम
अभी अभी तो गया है वो
मुझे अपनी यादों का सहारा देकर ,
और प्रमाण पत्र भी दे गया है
मुझसे अपने सात ,फेरे कराकर
अब उसकी यादों को रक्खूंगी
सदैव अपने पल्लू में बांधकर
जब भी याद आएगी उनकी तो
पल्लू से पौंछ लुंगी अश्रु बहाकर 

lokoktiyan



गरिमा ,मर्यादा ,प्रसिद्धि ,
पैसे के बल पर होती सिद्धि |


बुद्धि, ज्ञान, बल ,और अक्ल
पैसा  है इन सभी का सम्बल | 


पैसे तेरे तीन नाम  ,
परशु, परसा, परशराम |  


भीतर ही भीतर
सुलग रहा है
आम आदमी
देश के हालात देखकर
क्योँकि आपातकाल का भय
उसे शनै शनै डस रहा है |

aashy


आशय
हम कहाँ किसी को कुछ कहते हैं
जनमानुष ही हम को कुछ कह कर
हमारी अँखियों से ओझल हो जाते हैं
हम तो अपने दांतों में ऊँगली देकर
अनमने भाव से देखते रह जाते हैं
पर उनका आशय नहीं जान पाते हैं  

Wednesday, January 3, 2018

vkt gujar jata hai fir pachhtata hai

ज़रा सोचो ,अहंकार में मत डुबो" ,चार दिन की चांदनी और फिर अँधेरी रात "
मोदी जी आपने हमसे वोट माँगा ,हमने आपको दे दिया ,
आपने फुल मेजोरिटी मांगी ,आपको मिल गई ,
आप देश के प्रधानमंत्री बन गए ,
आपने हमको क्या दिया ?
बाबा जी का ठुल्लू   झूठ ,जुमले ,लॉली  पॉप ,आंसू  देश में बद्मिनी ,हिन्दू मुस्लिम द्वेष , या फिर ,
आपने हमारे हाथ में भीख मांगने के लिए कटोरा दे दिया / क्योँकि नौकरी ,रोजगार ,पैसा सभी कुछ छीन लिया ,
कांग्रेस के ६० साल का हिसाब किताब / ,परन्तु आपने अपने ३ साल ७ महीने का हिसाब आज तक नहीं दिया ,
जब भी ,जहां  पर भी ,भाषणों में ,टी वी चेनल्स में डिबेट्स  में ,बस एक ही बात कांग्रेस ने ६० साल में क्या दिया ,
क्या किया ?,
आपकी पार्टी कांग्रेस का मुकाबला कभी नहीं कर सकती जो उन्होंने दिया आप अगले ७ जन्म भी नहीं दे सकते <
आदरणीय  मोदी जी ,यदि कांग्रेस सबकुछ देती रहती तो फिर जनता आपको या आपकजी पार्टी को वोट क्योँ देती और कैसे आप प्रधानमंत्री बनते ,
उनको उनकी गलतियों का ही तो खामियाजा भुगतना पद रहा है की वो आज सत्ता में नहीं है ,,क्या आप भी उनके ही जैसा परिणाम चाहते हो
यदि ऐसे ही काम आप और आपकी पार्टी करती रही तो वो दिन दूर नहीं है जब आप भी ढाक  के पेड़ पर बनकर ======बैठोग
और फिर पछताए होत ,क्या जब कोंग्रेसी खा जाएंगे खेत 

Wednesday, September 27, 2017

vrtman shasak


वर्तमान के सार्वभौम

आखिर क्योँ ,
तुम झूठ पे झूठ
जुमले पे जुमला ,
फेंक फेंक कर
जनता को भरमा
गलत मशीनों के सहारे 
तिलस्मी परचम
फहरा फहरा कर
और नित नए नामो से
जाने जा रहे हो ,
हश्र इनका जो हो रहा है
देख रहे हो
और सोच रहे हो ,
कभी
खून पे खून
करा करा कर
कभी धर्म
कभी गाय माता
कभी आतंकवाद
तो कभी मुद्रा
का चलन रोक कर
देशवासियों को आत्महत्या 
की प्रेरणा दिए जा रहे हो ,
कभी कर
कभी करों पे कर
नित नए नए  कर 
और अब
दिवालिया विधेयक
संविधान में पास करा
बैंको में रखे धन को भी 
बट्टे खाते लगा
जनता को कंगाल
करने जा रहे हो ,
आप क्रूर हैं
जनता मजबूर है
महंगाई को देख
दांत पीसती है
बद्दुआएं देती है
गालियां देती है
जिस युवा पीढ़ी ने
आपको चाहा था
बेरोजगार हो गए हैं
छीन झपट पेट भर रहे हैं |