Sunday, July 16, 2017

satta ka nasha

किसी देश का राजा बहुतं  अत्याचारी था ,वो अपनी जनता पर मनमाना टैक्स लगाता था यदि वो न यहीं दे पता तो सजा नहीं बल्कि सजाये मौत ,यदि सैनिक सर उठाता तो उसे भी सजाये मौत ,कोई राजा की आलोचना करता तो सजाये मौत ,कोई राजा की बात  नहीं मानता तो सजाये मौत ,कोई उसकी सवारी के आगे से निकल जाता तो सजाये मौत ,कोई राजा के खिलाफ सर उठाता तो सजाये मौत ,इस प्रकार राजा ने लाखों लोगों का कत्ल कर दिया और राज करता रहा <
एक दिन उसके राज्य में एक साधू आये तो जनता ने उनको चुपचाप अपने अपने दुखड़े सुनाये और कहा महाराज हमको इस दुराचारी ,घमंडी राजा से बचाये ,
साधू ने कहा मैं  प्रयत्न  करूंगा और उसके बाद वो साधू सीधा राजा के दरबार में पहुंचा और राजा से अपनी बात रखने की विनती की ,
तो राजा ने कहा की आप विनती करिये परन्तु ये ध्यान रखियेगा की मेरे राज्य में प्रत्येक गुनाह की सजा ,सजाये मौत है ,
साधू ने कहा की ठीक हैं उसने राजा से विनती कर कहा की हे राजन तुम जितने भी निर्दोष लोगों का कत्ल कर रहे हो ,वो सभी एक दिन आपसे बदला लेंगे
राजा  ने कहा बस यही कहना था क्या ,?
जी राजन
तो सुनिए अब तक मैं लाखों लोगों का कत्ल करवा चुका हूँ यदि ये मुझसे बदला भी लेंगे तो एक साथ मिलेंगे कैसे कोई किसी योनि में जाएगा कोई किसी योनि में और यदि एक एक करके बदला लिया भी तो मुझे लाखों जन्म कौन देगा ,ओर जोर जोर से हंसने लगा और बोलै साधू तेरी सजा ये   है की तुम यहां से  जाओ और फिर कभी  दिखाई मत देना
साधू ने कहा ठीक है राजन हम एक बार फिर मिलेंगे और तब बात करेंगे |
समय गुजर गया राजा मर गया और उसने हाथी का जन्म ले लिया और  किसी एक व्यक्ति ने   खरीद लिया और वो उस हाथी से पूरे दिन लक्कड़  ढुलवाता और रुक जाने पर उसके माथे पर अंकुश से  करता ,कुछ दिन के बाद उसमे घाव हो गया और कीड़े पड़ गए ,अब  वो हठी सारे दिन सर हिलाता रहता और
एक दिन वो साधू हाथी   के सामने पहुंचे और बोले राजन क्या हाल है
वो सर हिलाता रहा ,तो साधू बोले राजन मुझे पहिचाना ,
तो हाथी ने सर हिलाया
तो साधू बोला की राजन आज तेरे सर में जो कीड़े कुलबुला रहे हैं ये वो ही व्यक्ति हैं जिनको तूने निर्ममता से मारा था और गिन सके तो गिन ये पूरे इतने ही हैं और एक साथ मिलकर तुमको कचोट कचोट कर खा रहे हैं और तू बेबस है
बोला महाराज मुझे किसी प्रकार बचाओ , तो साधू ने कहा की जब इनका बदला पूर्ण हो जाएगा तो तुझे मौत आएगी उससे पहले नहीं |
अब सत्ता के नशे में चूर   नेताओं को भली भांति सोच लेना चाहिए उनका हाल भी ऐसा ही होगा तुम्हारे प्रत्येक कर्म का फल मिलेगा | 
 









No comments:

Post a Comment