Thursday, May 4, 2017

आज  हम जो भी बो रहे हैं
कल वो ही काटने को मिलेगा
इसलिए आज से ही अच्छा बोओ
ताकि कल अच्छा ही काटने को मिले | 

No comments:

Post a Comment