Monday, April 24, 2017

kanoon andha nahin blki

अक्सर आपने लोगों को कहते सूना होगा कि " क़ानून अंधा होता है क्योँकि उसके आँखों पर पट्टी बंधी होती है " परन्तु ये बात ठीक नहीं बल्कि असत्य है क्योँ की कानून अंधा न यहीं बल्कि कानून के रखवाले या कानून के द्वारा फैसला करने वाले अंधे हैं क्योँकि उनकी खुद की आँखों पर पट्टी बंधी हुईं है अब वो किस चीज की है कयो है मै  नहीं जानता , जानता भी हूँ तो लिख नहीं सकता ,और यदि लिख दिया तो फिर क्या होगा ये भी आप भली भांति सब जानते हैं फिर मेरे खिलाफ भी वो ही अंधा क़ानून अपना काम करेगा |

No comments:

Post a Comment