Monday, April 3, 2017

यदि टूटने से पहले ,जुड़ने की कला भी सीख लेते, तो शायद  टूटते ही नहीं ,और सुखी रहते
चक्रव्यूह में घुसने से पहले, बाहर  निकलने की कला सीख लोगे, तो कभी फसोगे ही नहीं ,

No comments:

Post a Comment