Friday, March 17, 2017

BUJURG

यदि हम सभी भारतवासी बुजुर्ग ,अपने बच्चों के सभी कार्यों में जापानीज बुजुर्गों की भांति हाथ बटाये ,और उनका सहारा बनने कीकोशिश करें यानी की उनको अपनी उपयोगिता दर्शाएं ,यथा उनके उद्योग धंधों में छोटे मोठे कार्य या ऑफिसियल वर्क करें ,जो वो कर सकते हैं ,और यदि घर में भी रहें तो छोटे मोठे कार्य जैसे साग भाजी लाना ,बच्चों को स्कूल छोड़ना और लाना या जो भी कार्य वो करने में सक्षम हैं करें तो शायद हमारे देश में व्रद्धाश्रमों की जरूरत नहीं पड़ेगी ,और यदि व्रद्धाश्रम हैं भी तो वो खाली ही रहेंगे , कोई भी व्यक्ति इतनी उपयोगिता देखने के पश्चात बुजुर्गों को व्रद्धाश्रम नहीं भेजेगा ,
" एक कहावत है की सभी को काम प्यारा होता है चाम नहीं "

No comments:

Post a Comment