Monday, January 30, 2017

aavshykta ek aise vykti kee

एक ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता है जो
मोदी जी की भांति झूठ पर झूठ बोल सके और नित  नै  नै फेंक सके ,वर्चस्व के लिए कुछ भी कर सके ,असली मुद्दों को छिपाने में माहिर हो और नित नए मुद्दे तैयार कर सके और जनता को दिग्भर्मित करने में सफल हो सके ,सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करने में माहिर हो ,सुने सबकी पर करे अपने मन की ,देशवासियों से मन की बात करे और गाये आले बाले ,फोटो खिंचवाने का शौकीन हो और कपडे दिन में कम  से कम  १० बार बदले ,देश में कितने ही किसान या लोग ,सैनिक मर जाएँ उनपर एक भी आंसू ना बहाये ,बड़े बड़े दिग्गजों का लोन माफ़ कर सके और किसानों को मारने दे फांसी लगाकर ,एक शर्त और बाल बच्चेदार हो तो उनको छोड़ने में दिल न पसीजे ,पॉलिटिक्स में मास्टर्स की डिग्री होने के बाद भी अपनी शिक्षा १० विन पास बता सके ,
आदरणीय वेंकैया नायडू जी जैसा जो कदम से कदम मिलकर चलने में माहिर और बिना कचौड़ी का गवाह बनने की क्षमता रखता हो
 आदरणीय राजनाथ सिंह जी की भांति चमचागिरी में माहिर हो  जिधर मोदी जी ऊँगली उठा दें उधर आँख मीचकर भागना शुरू कर दे सोचने की जहमत ना उठाये ,
अरुण जेटली जी की भांति उलटे सीधे गलत आंकड़े पेश करने में माहिर हो ,अपने वाक्चातुर्य से जनता को आकर्षित करने में माहिर हो ,पर लोकसभा से कभी जीतकर ना आ सके ,
संबित पात्रा  उर्फ़ लंबित पात्ररा जी की भांति प्रत्येक वाक्य पर कांग्रेस के ६५ साल का गाना गाना  और अपना कम्पेरिजन करना शुरू कर दे ,सुने किसी की नहीं बस सुनाता ही रहे ,
गडकरी जी की भांति बड़े बड़े उद्योग झुग्गी झोपड़ियों में फर्म खड़ी करके करोडो का व्यापार कर सके ,
चाहे तो वो अमित शाह जी जैसा ही हो पर उनके ऊपर कोई दाग लगा हुआ ना हो  या फिर दाग को रातों रात साफ़ करा सके ,राजनीति के नए नए फॉर्मूले ,शाम ,दाम ,दंड ,भेद सभी में अमित शाह जी की भांति माहिर हो
अब ये मत पूछना की उससे हम काम क्या करवाएंगे ,यदि आप पूछोगे तो बता भी देंगे भाइयो ।

No comments:

Post a Comment