Monday, August 8, 2016

suvichar

जो गुजर चुका है उसे भूल जाओ
जो आने वाला है उसका अभिवादन करो
दुख सुख दोनों में ऊपर वाले को नमन करो
यदि कुविचार मन में आएं तो शमन करो

No comments:

Post a Comment