Sunday, July 17, 2016

mousam

आज मौसम ने
पलट दिए
चालीस वर्ष पुराने वरखे
जब हम और वो
कभी ऐसे मौसम में
एक दुसरे के
अंक में समा
दिल ही दिलमे
कुछ कुछ छुपाए थे ,

No comments:

Post a Comment