Monday, June 27, 2016

vkt badalte der nahin lagti

पैसा आया ,मान मिला और
साथ बहुत सी लाया सौगात
भाई बंधुओं को रास आया
बन गए सभी कुंवर प्रताप ,
ठंडी सभी की खत्म हो गई
आ गया सभी में उच्च ताप
कद सभी का बड़ा हो गया
तो भूल गए अपनी ओकात ,
किसी को  भी बड़ा न समझे
सबसे ऊंचे बन गए वो आप
जो भी  उनके सामने बोलता
बता देते उस बेचारे को जात ,
वक्त ने एक दिन पलटा खाया
सबकुछ ले गया अपने साथ
जिसे भी मिलते मुंह फेर लेता
चाहे कितना ही करें प्रलाप ।

No comments:

Post a Comment