Friday, June 27, 2014

पक्षियों के द्वारा नेक सलाह

हमारा ख्वाबगाह तो चमन है
जहां मात्र चैन और अमन है
जहां ना भारत और पाक है
और ना इराक़ और यमन है ,
स्वर्ग में भी घोसले बनाते हैं हम
जन्नत में उड़के चले जाते है हम
युद्ध का नजारा देख आते हैं जाकर
यमन को सलाम कर आते है हम 
ना जाने में भय ना आने  में डर
ना पासपोर्ट ना वीसा का चक्कर
सभी सीमाएं खोल रखीं हैं हमने
आपस में प्यार प्रेम की खातिर ,
काश सभी देशवासी ऐसा कर दिखाते
हम पक्षी भी देख देख मुस्कुराते
जो देश इस सबसे  सहमत ना होते
बाकी देश उनकी खिल्ली उड़ाते |

No comments:

Post a Comment